CMS kya hota hai

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका आज के एक और नये पोस्ट में अगर आप इन्टरनेट की फील्ड में नये है और यदि आप अपना खुद का कोई वेबसाइट बना रहते है तो आपका सामना CMS से जरुर ही हुआ होगा. इन्टरनेट पर मौजूद लगभग सभी डायनामिक वेबसाइटों के पीछे कोई न कोई CMS जरुर ही होता है. यदि आप भि कोइ वेबसाइट या ब्लॉग बनाने जा रहे है या पहले से ही आपका कोई वेबसाइट है तो आपको CMS की पूरी जानकारी जरुर ही होना चाहिए.

CMS की मदद से वेबसाइट बनाना काफी आसान हो जाता है. यदि CMS न हो तो कोई भी वेबसाइट बनाने बे काफी समय लग जाता है आपको हर छोटे छोटे कम के लिए खुद से कोडिंग करना पड़ता है और कोडिंग की जानकारी बहुत ही कम लोगो को होती है.

Content Management System यानि CMS ने किसी भी तरह के वेबसाइट डेवलपमेंट को काफी आसान बना दिया है इसका उपयोग करके आप कुछ ही मिनटों में एक अच्छी खासी वेबसाइट तयार क्र सकते है.

Read Also = What is DNS in Hindi

CMS का उपयोग ज्यादातर उन लोगो द्वारा किया जाता है जो अपने वेबसाइट के Pages को मैनेज करना चैये है. CMS वेबसाइट पेज को मैनेज करने के लिए सबसे अच्छा सॉफ्टवेर मन जाता है इसका उपयोग करना बहुत ही सरल है और हर कोई आराम से कर सकता है.

What is CMS?

CMS कंप्यूटर का एक सॉफ्टवेर है जिसका उपयोग डिजिटल कंटेंट को बनाकर उनको वेबसाइट पर पब्लिश करने के लिए किया जाता है. इस सॉफ्टवेर की मदद से वेबसाइट के कंटेंट को बिना किसी टेक्निकल नॉलेज के Create, Manage और Update किया जा सकता है. इससे पहले इस सॉफ्टवेर का उपयोग कंप्यूटर के फाइल को मैनेज करने के लिए भी किया जाता था लेकिन अब इसका इस्तेमाल वेबसाइट को मैनेज करने के लिए करते है. CMS का Full Form “Content Management System” होता है.

आपको यह पता ही होगा की किसी भी प्रकार के छोटे से छोटे और बड़े से बड़े वेबसाइट को बनाने के लिए बहुत साडी कोडिंग करनी पडती है बहूत सारे HTML फाइलें बनाने पड़ते है. वेबसाइट के डेटाबेस को मैनेज और अपडेट करना पड़ता है. ये सभी कम और manually किया जाये तो इन सभी कामो को करने के लिए वेब डेवलपमेंट और इसके साथ साथ HTML, CSS, आदि की भी अच्छी नॉलेज होना बहुत ही जरुरी है.

लेकिन यदि आप CMS का उपयोग करेंगे तो आपको ये सभी कम नही करना पड़ेगा और ना ही इन सभी चीजो की जानकारी होना जरुरी है.

Read Also = Rich Dad Poor Dad in Hindi PDF

यदि आपको आसान भाषा में कहे तो CMS एक प्रकार का ऐसा सॉफ्टवेर होता है जहा आपको किसी भी तरह की कोडिंग की नॉलेज की आवश्यकता नही पडती है बस आपको अपने वेबसाइट के लिए कंटेंट लिख कर उसको पोस्ट करना होता है.

CMS Full Form

CMS का फुल फॉर्म “कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम” होता है. CMS Full Form = Content Management System

CMS Kya Hota Hai

CMS सॉफ्टवेर को खास तौर पर इस तरह से बनाया गया है जिससे एक समय में कई लोग एक ही वेबसाइट पर काम कर सकते है और उसे आसानी से अपडेट कर सकते है. CMS सॉफ्टवेर की मदद से कोई भी वेबसाइट आसानी से और तेजी से बन जाती है.

यदि हम CMS सॉफ्टवेर के बारे में डिटेल में बात करे तो जब भी आप कोई भी वेबसाइट बनाते है तो कोडिंग की कोई भी जरुरत नही पडती है. बिना कोडिंग या एक्स्ट्रा नॉलेज के ही आप अपना वेबसाइट को डिजाईन कर सकते है उसको मैनेज करने के लिए एक लॉग इन पैनल बना सकते है और अपना यूजरनाम और पासवर्ड भी डाल सकते है जिससे कोई और उसको एक्सेस न कर पाए ये सभी चीजे आप आसानी से CMS के द्वारा मैनेज कर सकते है बिना किसी एक्स्ट्रा नॉलेज के.

Read Also = PHP in Hindi

CMS Full Form in PHP in Hindi.

जैसा की उपर हमने बताया की CMSContent Management System” होता है.

CMS के एडमिन पैनल का इस्तेमाल करके आप अपनी वेबसाइट में किसी भी प्रकार का बदलाव कर सकते है. CMS आपको सब कुछ अपने अनुस्वार करने की सुविधा प्रदान करता है.

जबकि php in hindi के माध्यम से आप ऐसा कुछ भी नही कर सकते है. PHP Framwork किसी यूजर द्वारा बहुत पहले लिखी निर्धारित सेट के अंदर एक कस्टम कोड होता है. यह PHP डेवलपर Primary Programming Language के रूप में मेन लाइब्रेरी का उपयोग करके उसके Modules और Application को डेवेलोप करने की अनुमति देता है.

Read Also = 9Apps Download Jio Phone

CMS कैसे काम करता है.

CMS का मुख्य काम किसी वेबसाइट को बनाने से लेकर उसमे छोटे और बड़े बदलाव को करने के लिए एक आसान User Interface को उपलब्ध करवाना होता है. ये वेबसाइट के ओनर को ऐसा tool प्रदान करता है जिससे किसी एक वेबसाइट पर एक से अधिक लोग एक साथ वर्क कर सकते है और उस वेबसाइट को Update, Live और Publish करने की अनुमति प्रदान करता है और ये सभी काम बहुत ही आसानी से हो जाता है.

CMS अपने users को Microsoft Word की तरह एक सिंपल सा Graphical User Interface यानि GUI प्रदान करता है. जिसके जरिये हम बहुत ही आसानी से किसी भी वेबसाइट पर कंटेंट अपलोड कर सकते है.

CMS यानि Content Management System को बहुत ही ज्यादा Exprience Programmers द्वारा Develop जाता है. इसमें किसी भी छोटे या बड़े कम को करने के लिए बहुत सारे function होते है जो इसे किसी भी यूजर के लिए बहुत ही आसान बना देता है.

उदाहरण के लिए अगर हम अपने किसी भी वेबसाइट पर कोई इमेज अपलोड करना चाहते है तो यह कम आप बिना CMS का उपयोग किये कैसे करोगे? इसके लिए आपको अपने वेब सर्वर या वेब होस्टिंग के cpanel में जाकर डाटाबेस में एक सेपरेट फोल्डर में उस इमेज फाइल को FTP के माध्यम से अपलोड करना होगा.

लेकिन यही same कम आप CMS का प्रयोग करके बस कुछ ही सेकंडो में पूरा कर सकते है वो भी मात्र एक से दो क्लिक में कर सकते ही. जब हम इसमें इमेज को सेलेक्ट करके अपलोड बटन पर क्लिक करेंगे तो बैकग्राउंड में सारे functions अपने आप हो जायेगा और आपका इमेज फाइल अपने आप आपके सर्वर के डाटाबेस में सेव हो जायेगा.

Read Also = What is Web Hosting in Hindi

ठीक इसी प्रकार हर एक काम को करने के लिए अलग अलग function होता है, और ये सभी function हमारे काम को बहुत ही आसान बना देते है. इनमे कुछ function ऐसे भी होते है जो अपने आप बैकग्राउंड में प्रोसेस होते रहते है. जैसे आपने कोई पोस्ट लिखा और उसे किसी निश्चित समय के लिए schedule कर दिया तो यह अपने आप आपके सेट किये गये समय पर अपने आप publish हो जायेगा.

CMS एक ऐसा एडमिन पैनल उपलब्ध करता है जिसमे बहुत सारी भाषा उपलब्ध होती है. CMS यूज़ करके अगर हम वेबसाइट बनाते है तो उसके सभी पोस्ट का यूआरएल SEO फ्रेंडली होता है.

Types Of CMS In Hindi

CMS यानि कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम के मुख्य रूप से 2 भाग होते है.

  1. Content Management Application : आपके वेबसाइट के कंटेंट को create और manage करने की पूरी जिम्मेदारी Content Management Application (जिसे हम CMA भी कहते है) की होती है. यह आपके द्वारा अपलोड किये गये डाटा या कंटेंट को डाटाबेस पर स्टोर करके रखने का काम करता है.
  2. Content Delivery Application : इसका मुख्य काम आपके द्वारा अपलोड या इनपुट किया गया डाटा को डाटाबेस से निकलकर वेबसाइट पर आने वाले visitors को दिखाना होता है.

Read Also = DP Full Form in Hindi

CMS के सॉफ्टवेर

CMS का प्रयोग करके दुनिया भर में बहुत सारे प्लेटफार्म को डेवेलोप किया गया है. लेकिन उनमे से 3 सबसे बेस्ट CMS प्लेटफार्म के बारे में आज हम बात करेंगे.

WordPress CMS in Hindi

WordPress पूरी दुनिया में सबसे लोकप्रिय CMS सॉफ्टवेर है. दुनिया में अदिकंस लोग वेबसाइट बनाने के लिए WordPress का ही उपयोग करते है. किसी भी प्रकार के वेबसाइट को बनाने के लिए इसी CMS सॉफ्टवेर का उपयोग किया जाता है.

WordPress को उपयोग करना बहुत ही आसान है. WordPress का उपयोग करके अभी तक करोड़ों वेबसाइटों को बनाया जा चूका है और यह लगातार लोकप्रिय होता ही जा रहा है.

इस CMS Software को PHP की मदद से बनाया गया है पूरी दुनिया में ज्यादातर ब्लॉग्गिंग वेबसाइट इस्सी प्लेटफार्म का उपयोग करके बनाया गया है. WordPress Bloggers की पहली पसंद है.

इसे आधुनिक तरीके से बना गया है. इसको उपयोग करना बहुत ही आसान है कोई भी इसका बहुत ही आसानी से उपयोग कर सकता है क्योकि इसमें हजारो की संखाओ में Plugins उपलब्ध है जो आपके काम को बहुत ज्यादा ही आसान बना देते है. इन प्लगइन का इस्तेमाल करके आप अपने वेबसाइट के फीचर को बढ़ा सकते है.

इसमें वेबसाइट डिजाइनिंग करना भी बहुत ही आसान है क्युकी इसमें पहले से ही हजारो themes उपलब्ध रहते है जिनको install करके आप वेबसाइट को डिजाईन कर सकते है और यदि आप अपने हिसाब से कुछ change करना चाहते है तो आप अपने हिसाब से ही उसको Customise कर सकते है. जिन्हें कोई भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज भी नही आता जैसे HTML, CSS आदि वो भी इससे बहुत ही आसानी से क्र सकते है.

Joomla CMS in Hindi

जूमला एक open source CMS प्लेटफार्म है. यह WordPress की तुलना में थोरा ज्यादा ही advance है. वर्डप्रेस के जैसे इसे भी बहुत ही आसानी से install किया जा सकता है और इस पर काम करना भी काफी आसान है.

जूमला का उपयोग वेबसाइट को आधुनिक और गतिशील वेबसाइट बनाने के लिए उपयोग किया जाता है. जूमला हमेशा से ही उपयोग करने में काफी आसान है. 2005 के बाद से ही जूमला को कई पुरस्कार और प्रशंसा जीती है.

जूमला में भी आपके कामो को आसान बनाने के लिए कई प्रकार के plugins और extension उपलब्ध है. और जूमला CMS में भी यदि आप अपने वेबसाइट का लुक बदलना चाहते है तो यहा पे भी कई प्रकार के Themes भी उपलब्ध है.

जूमला आपको Multilanguage Support भी प्रदान करता है इसके लिए आपको किसी भी अतिरिक्त Plugin को इनस्टॉल करने की  आवश्यकता नही पडती है.

Drupal CMS in Hindi

यह भी एक open source CMS है. इसके User Management System, Security Features और Permission Setings की वजह से यह बिज़नस वेबसाइटों के लिए सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता है. इसका उपयोग मुख्य रूप से Global Community, Higher Education Institutions, NGOs आदि की वेबसाइटों के लिए यह बेस्ट प्लेटफार्म है.

यह उपयोग करने में थोडा सा कठिन होता है लेकिन यदि आपको वेब डेवलपमेंट का थोडा भी ज्ञान है तो यह आपके लिए सबसे बेस्ट CMS साबित होता है.

इन तीनो के अलावा भी Magento (e Commerce), Wix और Squarespace जैसे और भी बहुत सारे CMS प्लेटफॉर्म्स उपलब्ध है जिनका उपयोग जरुरतो के अनुसार किया जाता है.

CMS के माध्यम से किस प्रकार के वेबसाइट बनाये जाते है?

CMS का उपयोग करके आप लगभग बहुत प्रकार के वेबसाइट को डेवेलोप कर सकते है.

जैसे:-

  • ब्लॉग
  • न्यूज़ वेबसाइट
  • इ-कॉमर्स
  • बिज़नस वेबसाइट
  • सोशल मीडिया वेबसाइट जैसे:- फेसबुक, यूटूब, ट्विटर आदि.
  • वेब पोर्टल
  • बिज़नस डायरेक्टरी
  • ऑनलाइन फोरम
  • पोर्टफोलियो वेबसाइट
  • रिव्यु वेबसाइट
  • कूपन साईट
  • ऑक्शन वेबसाइट
  • क्लासिफाइड वेबसाइट
  • स्थैतिक वेबसाइट
  • स्कूल/कालेज मैनेजमेंट वेबसाइट
  • ऑनलाइन एग्जामिनेशन सिस्टम

इन सभी के अलावा भी आप और भी कई प्रकार की वेबसाइट CMS के माध्यम से बना सकते है.

CMS से वेबसाइट कैसे बनाए?

CMS के माध्यम से किसी भी प्रकार के वेबसाइट को बनाने के लिए कुछ कॉमन स्टेप्स फॉलो किए जाते है.

जैसे:

  1. डोमेन नाम और होस्टिंग खरीदे.
  2. वेब होस्टिंग के CPannel में लॉग इन करे.
  3. CPannel में जाकर अपनी पसंद का CMS (Content Management System) को Install करे.
  4. CMS को अपने आवश्यकता के अनुसार Customise करे.
  5. वेबसाइट के लिए अपने हिसाब से Theme, Plugins और जरुरी Extension को Install करे.
  6. अब बस आप अपना कंटेंट लिखना और अपलोड करना शुरु करे.

इन कुछ आसान स्टेप्स को फॉलो करके आप बड़ी आसानी से अपना वेबसाइट या ब्लॉग बना सकते है.

कृपया अपना महत्वपूर्ण विचार अवश्य दें!!